कांग्रेस-आप के बीच एक सीट पर पेच

कांग्रेस-आप के बीच एक सीट पर पेच

दिल्ली की सात सीटों पर गठबंधन की कोशिश कर रही कांग्रेस-आप के बीच एक सीट को लेकर पेच फंस गया है। आप ने खुद पांच सीटों पर लड़ने और दो सीटें कांग्रेस को  देने का फार्मूला दिया है। वहीं कांग्रेस आप को चार सीटों से अधिक देने को तैयार नहीं है। सूत्रों ने बताया कि दोनों दलों की ओर से दिए फार्मूले पर अब शीर्ष नेतृत्व फैसला करेगा। दोनों दलों के हिस्से में कौन सी सीटें जाएंगी इसपर भी अभी दोनों दलों में सहमति नहीं बन पाई है।  सूत्रों के मुताबिक आप हरियाणा की 10 सीटों को लेकर भी एक प्रस्ताव दिया है। वह राज्य में दो सीटें मांग रही है जबकि कांग्रेस एक सीट देने को तैयार है।  

शीला बोलीं- दरवाजा बंद न खुला

आम आदमी पार्टी (आप) से गठबंधन के मामले पर अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के बीच मतभेद सार्वजनिक मंच पर भी दिखने लगा है। गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी की मौजूदगी में घोषणा पत्र जारी किया गया। इस दौरान जब प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित से गठबंधन संबंधी सवाल पूछे गए तो इसके जबाव में उन्होंने कहा कि ‘आप’ से गठबंधन के रास्ते न ही खुले हैं और ना ही बंद हैं। .

शीला दीक्षित ने इस दौरान कहा कि उन्हें तो यह भी नहीं मालूम है कि गठबंधन की बात कर कौन रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि हम अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं और यह हम बार-बार यह कह रहे हैं। वहीं, इस सवाल का जबाब देते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने कहा कि गठबंधन पर रास्ते अभी खुले हुए हैं और प्रयास जारी है।.

केजरीवाल को संविधान की जानकारी नहीं

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने संबंधी आम आदमी पार्टी की मुहिम का जबाव देते हुए शीला दीक्षित ने कहा कि मुख्यमंत्री केजरीवाल को संविधान की जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पूर्ण राज्य पर रोज बोलते रहते हैं, लेकिन वे उस पर कभी ध्यान भी नहीं देती हैं। .

शीला ने कहा कि पूर्ण राज्य की मांग हमने भी की थी। तब केंद्र में कांग्रेस सरकार ही थी। तब हमें समझाया गया था कि दिल्ली देश की राजधानी है। इसके चलते संविधान को बदलना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र अधिनियम के मुताबिक दिल्ली में मुख्यमंत्री और उपराज्यपाल दोनों की व्यवस्था कायम की गई है। .

सात लोकसभा सीटों के लिए 84 आवेदन

लोकसभा प्रत्याशियों के नामों की घोषणा करने संबंधी सवालों के बारे में पूछे जाने पर पूर्व मुख्मंत्री ने जवाब देते हुए कहा कि राजधानी की सात लोकसभा सीटों के लिए हमारे पास करीब 84 आवेदन आए हैं। इस वजह से उपयुक्त नामों के चयन में थोड़ा बहुत समय लग सकता है।.

कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा कि यह केवल दिल्ली का ही नहीं, बल्कि पूरे देश का घोषणा पत्र है। कांग्रेस ने अखिल भारतीय घोषणा पत्र जारी किया है, जिसे देशभर में पंसद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में भी प्रतिमाह छह हजार रुपये वाली न्याय योजना लागू होगी। जिसका दिल्ली को बहुत फायदा होगा।

कांग्रेस के घोषणा पत्र को जनता कर रही है पसंद

शीला दीक्षित ने कहा कि घोषणा पत्र में जो भी वायदे किए गए हैं, उन्हें पर पूरा करने के लिए वह कटिबद्ध हैं। यह घोषणा पत्र लोकप्रिय ही नहीं, आवश्यक भी है। आज पूरा हिंदुस्तान कांग्रेस पार्टी की वजह से है। जो भी देश के लिए किया है कांग्रेस ने ही किया है। देश का सारा विकास कांग्रेस ने किया, हमें इस पर गर्व है।

Share with:


admin

Comment

%d bloggers like this: