/आरोपी से मिली मंदसौर पुलिस

आरोपी से मिली मंदसौर पुलिस

क्या था पूरा प्रकरण

संघर्ष NGO के संस्थापक महासचिव को जान से मारने की धमकी बाबत पूर्व में 22 मार्च को संघर्ष NGO महासचिव को मिली जान से मारने की धमकी

और 31 मार्च को सिटी कोतवाली मंदसौर ने दिया महेंद्र पर कार्यवाही का आस्वाशन

शीर्षक से 2 खबरें प्रकाशित की थी, पहली खबर में मन्दसौर SP व मंदसौर कलक्टर को घटना के बारे में मेल करने , sp साहब को फोन पर जानकारी थी, तो दूसरी खबर में मन्दसौर सिटी कोतवाली द्वारा आरोपी को गिरफ्तार कर शख्त कार्यवाही का आस्वाशन दिया गया था।

आज के हालात

कल शाम राकेश गुप्ता की इस केस के IO ASI ठाकुर से उनके मोबाइल नम्बर 7587617344 पर बात होंंने पर ASI ठाकुर ने कहा की आपकी शिकायत ही मुझ तक नही पहुँची है तो मैंं कार्यवाही केसेे करूँगा। शिकायत आने दीजिये फिर देखेंंगे।

क्या हुआ था 31 मार्च को

31 मार्च को थाना सिटी कोतवाली मंदसौर द्वारा विक्की नामक पुलिस परसन को महेंद्र को लाने के लिए भेजा गया था जहाँ पर महेंद्र नही मिला मगर महेंद्र के साथियों से विक्की की मुलाकात और बातचीत हो गई थी।

सोचने वाली बात है कि इसके बाद क्या घटना क्रम हुआ कि पुलिस शिकायत मिलने की बात को ही नकार रही है।

जबकि राकेश गुप्ता ने SP साहब को भेजे गए मेल में स्पष्ट शब्दों में कहा था कि महेंद्र का कहना है कि मंदसौर पुलिस उसका कुछ नही करेगी।

अब आगे क्या होगा ये जानने के लिए राकेश गुप्ता द्वारा SP महोदय को पुनः उनके मोबाईल नम्बर  7049100447 पर फोन करके सारे घटनाक्रम की जाानकारी दी गई। SP महोदय ने कहा की आप मुझसे आकर मिल लें , सामने बैठकर सारी बात सुनेंगे और जरूरी कार्यवाही करेंंगे।

कार्यवाही होगी या नही, होगी तो कब होगी के साथ ही विचारणीय प्रश्न ये है कि सिटी कोतवाली मंदसौर के जो ऑफिसर महेंद्र से मिल गए हैं, और कार्यवाही करने से बच रहे है, उनके खिलाफ SP साहब क्या कार्यवाही करेंगे।

राकेश गुप्ता के अनुसार मन्दसौर में महेंद्र के राजनीतिक और दबंग लोगों से घनिष्ठ सम्बन्ध है, और जिनकी पुलिस में निचले स्तर पर बहुत अच्छी पकड़ है, इसलिए पुलिस कोई कार्यवाही नही कर रही है।

राकेश गुप्ता का कहना है कि जो लोग महेंद्र की मदद कर रहे हैं उनके नाम भी SP साहब को मिलने पर बता दिए जाएंगे।